संगिनी

एक नाम थी, अब आवाज है,
तस्वीरों में उनका दीदार हुआ,
लोग मिलने को तरसते हैं,
हमें तो ऐसे ही प्यार हुआ।

Advertisements