माँ

तू पूजा, तू मंदिर मेरी, तू ही मेरी भगवन है,
तुझमे समाई ममता को, करती दुनिया अभिनन्दन है,
तेरे चरणों में है मेरी, मेरी सारी दुनिया माँ,
तुझसे बढ़कर कोई नहीं माँ, कहता ये तेरा नंदन है।

Advertisements